Wednesday, October 31, 2018

विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति Statue Of Unity - सरदार वल्लभभाई पटेल जी के सम्मान में

विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति Statue Of Unity - सरदार वल्लभभाई पटेल जी के सम्मान में

Word tallest statue in the world 2018 "Statue of unity"

Statue of unity भारत के प्रथम उप प्रधानमंत्री तथा प्रथम गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल को समर्पित स्मारक जो भारत में गुजरात राज्य में स्थित है भारत के प्रधानमंत्री तथा गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने 31 अक्टूबर 2013 को सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती के उपलक्ष में इस विशाल मूर्ति का शिलान्यास किया था
विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति Statue Of Unity - सरदार वल्लभभाई पटेल जी के सम्मान में

यह मूर्ति साधु बेट नामक स्थान पर है जो की नर्मदा नदी के एक टापू पर स्थित है और सरदार सरोवर बांध से 3.2 किलोमीटर की दूरी पर है जो भारत राज्य की नर्मदा जिले में स्थित है

भारत तथा विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति स्टेचू ऑफ़ यूनिटी Word tallest Statue "Statue of unity"

स्टैचू ऑफ यूनिटी विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति है जिसकी ऊंचाई 182 मीटर है या 597 फीट है
इसके बाद विश्व की सबसे बड़ी दूसरी मूर्ति चीन की स्प्रिंग टेंपल बुद्ध की मूर्ति है जिसकी आधार से कुल ऊंचाई 208 मीटर यानी 682 फीट है|

स्टैचू ऑफ यूनिटी  की लागत Caust of statue of unity :


जब इस परियोजना को शुरू किया गया था तो इसकी कुल लागत प्रारंभ में 438.15 अमेरिकी डॉलर यानी 3001 करोड़ भारतीय रुपया थी|
लेकिन बाद 2014 मैं लार्सन एंड टूब्रो मैं सबसे कम की बोली 2289 करोड़ रुपया 436.39 मिलियन अमेरिकी डॉलर थी जिसमें मूर्ति का निर्माण रखरखाव शामिल था|
मूर्ति का निर्माण कार्य 31 अक्टूबर 2013 को शुरू किया गया और  2018 अक्टूबर के अंतिम में इसका समापन हुआ जिसकी शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने 31 अक्टूबर 2013 को सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्मोत्सव पर की थी|

Statue of uninty की शुरुआत कैसे हुई :

इस परियोजना की शुरुआत 7 अक्टूबर 2010 को की गई थी जिसका नाम रखा गया "स्टेचू ऑफ यूनिटी" और शुरुआत गुजरात सरकार द्वारा की गई इस मूर्ति को बनाने के लिए भारत के किसानों द्वारा खेती में उपयोग में लाए जाने वाले पुराने औजार बेकार पड़े औजारों का संग्रह किया गया राष्ट्रीय स्तर ट्रस्ट ने इस कार्य हेतु भारत में 36 कार्यालय खोलें जिसमे उन्होंने 5 लाख भारतीय किसानों से पुराने औजारों तथा लोहा जुटाने का लक्ष्य रखा गया पहले घोषणा की गई थी कि इस लोहे और औजार का उपयोग मूर्ति के निर्माण में किया जाएगा लेकिन बाद में इसका उपयोग अन्य कार्यों में किया गया|


मूर्ति समर्पित – सरदार वल्लभभाई पटेल
स्थान – साधू बेट, सरदार सरोवर बांध के निकट, गरुड़ेश्वर बांध, नर्मदा जिला, गुजरात, भारत
मूर्ति की ऊंचाई –182 मीटर 597 फीट/ आधार सहित 240 मीटर 790 फीट
निर्माण की शुरुआत –31 अक्टूबर 2013
निर्माण कार्य समापन– 31 अक्टूबर 2018
निर्माण सामग्री– इस्पात इस्पात का लेप कंक्रीट