सिविल सेवा IAS टॉपर सृष्टि बोलीं, बचपन का सपना सच हुआ UPSC Topper srishti jayant deshmukh

भोपाल(Bhopal)  की रहने वाली अपने पहले ही प्रयास में सिविल सेवा परीक्षा मे (IAS)  कामयाबी पाने वाली सृष्टि जयंत देशमुख इसे अपने 'बचपन का सपना' सच होने जैसा मानती हैं। भोपाल की रहने वाली सृष्टि जयंत देशमुख (srishti jayant deshmukh) महिला अभ्यर्थियों में प्रथम स्थान पर रहीं, जबकि सम्मिलित सूची में srishti पांचवें पायदान पर रही हैं | UPSC  {संघ लोक सेवा आयोग} ने शुक्रवार को सिविल सेवा परीक्षा के अंतिम परीक्षा के परिणाम घोषित किए है|
सृष्टि जयंत देशमुख

अपने घर पर इस कामयाबी को celebrate करते हुए सृष्टि ने कहा- "यह एक लंबी यात्रा है जिसमें आप 1-1.5 साल तक पूरी तरह समर्पित रहते हैं। मेरे parents , परिवार, teachers, दोस्‍तों ने मुझे बहुत ज्यादा support किया। इसलिए पूरा-पूरा श्रेय उन्‍हीं को जाता है।

सृष्टि ने कहा मैंने पहले ही सोचा था कि मेरा यह पहला प्रयास ही मेरा आखिरी प्रयास होगा। इसलिए मेरा निश्‍चय था कि एक ही प्रयास में मै इस प्रतियोगिता में सफल हो जाऊं |
सृष्टि ने राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल से BE (chemical engineering) की पढ़ाई की है। IIT बॉम्बे से B-TECH की पढ़ाई करने वाले कनिष्क कटारिया ने सिविल सेवा परीक्षा में #1 शीर्ष स्थान हासिल किया है।


कनिष्क कटारिया

यूपीएससी ने एक बयान में बताया कि आयोग ने IAS आईपीएस और आईएफएस IFS आदि पदों पर नियुक्ति के लिए कुल 759 अभ्यर्थियों के नाम घोषित किए हैं, जिनमें 577 पुरुष और 182 महिलाएं हैं| कटारिया SC जाति से ताल्लुक रखते हैं और उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में गणित लिया था। उन्होंने computer science में बीटेक किया है।